home page

खुशखबरी, वायुसेना में महिला अग्निवीरों की भी होगी भर्ती, IAF चीफ का बड़ा ऐलान

 | 
खुशखबरी, वायुसेना में महिला अग्निवीरों की भी होगी भर्ती, IAF चीफ का बड़ा ऐलान

देशभर में आज वायुसेना दिवस मनाया जा रहा है. इस मौके पर दो बड़े ऐलान किए गए हैं. इसमें पहला ऐलान ये है कि भारतीय वायुसेना में एक नया 'वेपन सिस्टम ब्रांच' को बनाया जाएगा. इसके अलावा, दूसरा ऐलान ये किया गया है कि अगले साल से महिला अग्निवीरों को Indian Air Force में शामिल किया जाएगा. Air Force Day के मौके पर शनिवार को भारतीय वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल विवेक राम चौधरी ने ये दोनों ऐलान किया है. चंडीगढ़ में वायुसेना दिवस के मौके पर फुल डे रिहर्सल किया जा रहा है.

भारतीय वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल विवेक राम चौधरी ने ऐलान किया कि सरकार ने IAF अधिकारियों के लिए 'वेपन सिस्टम ब्रांच' को बनाने की मंजूरी दी है. भारत की आजादी के बाद ये पहला मौका है, जब एक नई ऑपरेशनल ब्रांच को बनाया जाएगा. वायुसेना प्रमुख द्वारा ये ऐलान Air Force Day के मौके पर किया गया. एयर चीफ मार्शल ने कहा कि ये ब्रांच अनिवार्य रूप से एयरफोर्स के सभी तरह के लेटेस्ट वेपन सिस्टम को हैंडल करेगा. इससे 3400 करोड़ रुपये बचाए जाएंगे. उन्होंने कहा कि वायुसेना अगले साल महिला अग्निवीरों को शामिल करने की योजना बना रही है.

वायु योद्धाओं को वायुसेना में शामिल करना चुनौती

अग्निपथ योजना के जरिए वायु योद्धाओं को वायुसेना में शामिल करना एक चुनौतीपूर्ण काम हो सकता है. लेकिन इससे भी ज्यादा जरूरी बात ये है कि वायुसेना के लिए ये भारत की क्षमता का इस्तेमाल करने का एक मौका होने वाला है. गौरतलब है कि इस साल जून में लाई गई अग्निपथ योजना को लेकर देशभर में विवाद हुआ था. कई जगहों पर आगजनी भी देखने को मिली थी. हालांकि, जब सरकार की तरफ से भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी किया गया, तो बड़ी संख्या में उम्मीदवारों ने अप्लाई किया.

अगले साल से होगी महिला अग्निवीरों की भर्ती

IAF चीफ ने कहा, 'हमने ये सुनिश्चित करने के लिए अपनी ऑपरेशनल ट्रेनिंग मेथेडलॉजी में बदलाव किया है, ताकि हर अग्निवीर भारतीय वायुसेना में करियर शुरू करने के लिए सही स्किल और नॉलेज से लैस हो. इस साल दिसंबर में हम प्रारंभिक ट्रेनिंग के लिए 3000 अग्निवीर वायु को शामिल करेंगे.'

उन्होंने कहा, 'पर्याप्त स्टाफिंग सुनिश्चित करने के लिए आने वाले सालों में यह संख्या और बढ़ जाएगी. हम अगले साल से महिला अग्निवीरों को शामिल करने की भी योजना बना रहे हैं. बुनियादी ढांचे का निर्माण प्रगति पर है.'