Important News

जीरों बैलेंस जनधन खाता धारकों को मिलेंगे पूरे 10 हजार, ऐसे उठाएं इस योजना का लाभ

Govtvacancy Desk
4 April 2022 7:23 AM GMT
जीरों बैलेंस जनधन खाता धारकों को मिलेंगे पूरे 10 हजार, ऐसे उठाएं इस योजना का लाभ
x
Zero balance Jan Dhan account holders will get 10 thousand

अगर आपके पास बजट गड़बड़ हो जाने से पैसों की कमी हो गई है और आपके पास प्रधानमंत्री जन-धन योजना योजना वाला जीरो बैलेंस अकाउंट है तो आपके लिए अच्छी खबर है। आप इस अकाउंट में 10,000 रुपए ओवरड्राफ्ट (ओडी) के जरिए पा सकते हैं। पहले प्रधानमंत्री जन-धन अकाउंट में 5,000 ही ओवरड्राफ्ट के जरिए दिया जाता था लेकिन अब इसकी लिमिट बढ़ा कर 10,000 कर दी गई है।


प्रधानमंत्री जन-धन अकाउंट में ओवरड्राफ्ट (ओडी) के लिए क्या हैं नियम और शर्त

प्रधानमंत्री जन-धन अकाउंट में ओवरड्राफ्ट सुविधा का लाभ आप जब ही ले सकते हैं जब आपका अकाउंट कम से कम 6 महीने पुराना होना हो। अगर आपका अकाउंट 6 महीने पूराना नहीं है तो आप इसके जरिए केवल 2,000 का ही ओवरड्राफ्ट ले सकते है। वहीं भारत का कोई भी नागरिक जिसके पास प्रधानमंत्री जन-धन अकाउंट है और वह 65 साल से कम का है तो वह इसका लाभ ले सकता है।

ऐसे खुलवाएं जनधन खाता और ये मिलेंगे फायदे

देश के सभी नागरिकों के लिए बैंकिंग सुविधा मुहैया करने के लिए प्रधानमंत्री जी ने अपने पहले कार्यकाल के दौरान एक योजना कि शुरुआत की थी. जिसका नाम था प्रधानमंत्री जन धन योजना. इस योजना के तहत देश के सभी गरीब नागरिकों का कम से कम एक जन धन खाता खोला गया था.


इस खाते को अलग – अलग श्रेणी के आधार पर खोला गया था. जिसमें से एक महिला श्रेणी भी थी. हालही में सरकार द्वारा कोरोना वायरस से राहत के लिए एक पैकेज बनाया हैं जिसके तहत गरीब महिलाओं के जन धन खाते में उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी. जिन गरीब महिलाओं के पास उनका जन धन खाता नहीं है, वे इस लेख में दी हुई प्रक्रिया के माध्यम से जन धन खाता खुलवा सकते हैं.


जन धन खाता खुलवाने की प्रक्रिया (Jan Dhan Account Opening Process)

जन धन खाता आवेदक सरकार द्वारा चुने गए सरकारी एवं प्राइवेट बैंकों की किसी भी शाखा में जाकर खुलवा सकते हैं. आपको बता दें कि वे चाहे तो यह काम के लिए बैंक में न जाकर घर से ही ऑनलाइन भी इस कार्य को कर सकते हैं. इस दोनों की क्या प्रक्रिया हैं यह जानने के लिए निम्न चरणों को फॉलो करें.

ऑफलाइन माध्यम से :-

सबसे पहले आपको चुने हुए किसी भी बैंक में जाना होगा. जहाँ पर आप खाता खुलवाना चाहते हैं, वहां आपको एक फॉर्म मिलेगा.

इस फॉर्म में आपको वो सभी जानकारी देनी होगी जोकि उसमें आपसे पूछी जाएगी. जैसे कि आपका नाम, पता, आधार कार्ड नंबर, पैन कार्ड, व्यवसाय, वार्षिक आय, निर्भरता की संख्या, पहले से यदि आपके परिवार के किसी सदस्य का बैंक में खाता हैं तो उसकी जानकारी आदि.

इसके बाद आप इसके साथ सबही दस्तावेजों की एक कॉपी को स्टैच करें. फिर इसे उसी बैंक में ही जमा कर दें. इस तरह से आपका जन धन बैंक खाता खुल जायेगा.

ऑनलाइन माध्यम से :-

यदि आपको खाता ऑनलाइन खुलवाना है तो इसके लिए आप संबंधित बैंक की अधिकारिक वेबसाइट में जाकर भी फॉर्म की प्राप्ति कर सकते हैं.

फॉर्म प्राप्त हो जाये तो इसके बाद आप इसे भरें और सभी दस्तावेजों को स्कैन करके इसमें अपलोड करें. और फिर इसे जमा कर दें.

फॉर्म जमा करने के बाद आपकी रिक्वेस्ट बैंक द्वारा स्वीकार कर ली जाएगी और आपका जन धन बैंक खाता खुल जायेगा.

इस तरह से आप अपना जन धन खाता खुलवाकर कर सरकार द्वारा दी जा रही सहायता का लाभ उठा सकते हैं, जो आपकी आगे जाकर अन्य चीजों में मदद कर सकता है.


जन धन खाता बंद होने पर फिर से कैसे खुलवाएं (How to Active Jan Dhan Account Again)

आपका जन धन खाता आधार कार्ड से लिंक किया हुआ होना बेहद आवश्यक है. ऐसा होने से यदि आपका खाता बंद भी हो जाये तो आपको कोई टेंशन लेने की आवश्यकता नहीं होती है.

क्योकि जब आप बैंक में जाकर अपनी जानकारी देंगे जोकि आपके आधार कार्ड में मौजूद हैं तो इससे आपका खाता फिर से चालू हो जायेगा. यह काम आप ऑनलाइन भी कर सकते हैं.

लेकिन यदि आपने अपने खाते को आधार कार्ड से संलग्न नहीं कराया है तो इसके लिए आपको थोड़ी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. क्योकि इसके लिए आपको अपने संबंधित बैंक शाखा से सम्पर्क करना होता है.

ये बैंक शाखा आपको इसके लिए एक फॉर्म देंगे जिसे भर कर आपका खाता फिर से शुरू हो सकता है. इसके बारे में अधिक जानकारी आपको उसी बैंक की शाखा में जाने से मिल जाएगी. और फिर आप अपना खाता पुनः शुरू कर सकते हैं.

प्रधानमंत्री जन धन योजना क्या है ? (What is Pradhanmantri Jan Dhan Yojana ?)

प्रधानमंत्री जन धन योजना भारत सरकार द्वारा 2014 में शुरू की गई थी. इस योजना का उद्देश्य सभी क्षेत्रों के लोगों को बैंकिंग प्रणाली से जोड़ना है, और साथ ही यह सुनिश्चित करना है कि प्रत्येक परिवार या व्यक्ति के पास कम से कम एक बैंक खाता होना चाहिए. इस योजना के माध्यम से प्रत्येक नागरिक बैंकिंग योजनाओं के साथ ही सरकार द्वारा पारित सभी वित्तीय सब्सिडी तक पहुंच सकता है.


महिलाओं के जन धन खाते के लिए की गई घोषणा (Jan Dhan Account for Women New Announcement by Govt.)

चीन से आये कोरोना वायरस के कारण देश में अभी लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है जिसके चलते कई ऐसी गरीब महिलाएं हैं, जिन्हें अपने घर को चलाने में काफी परेशानी हो रही हैं. उनकी मदद के लिए सरकार द्वारा उनके जन धन खाते में आने वाले 3 महीने के लिए 1500 रूपये की कुल राशि प्रदान करने की घोषणा की गई है, जिसके तहत प्रत्येक महीने में लाभार्थी के जन धन खाते में 500 रूपये जमा किये जायेंगे.


जन धन खाता खुलवाने के लिए पात्रता मापदंड (Jan Dhan Account Eligibility Criteria)

भारत का नागरिक :-

इस योजना के तहत वही व्यक्ति या परिवार बैंक में जन धन खाता खोलने के लिए पात्र हैं जोकि भारत का नागरिक है. अन्य देश के लोगों को इसका लाभ प्रदान नहीं किया जायेगा.

आयु सीमा :-

जन धन खाता के लिए न्यूनतम आयु 10 वर्ष होनी चाहिये, जबकि अधिकतम कितनी भी वर्ष की आयु का व्यक्ति जन धन खाता खुलवा सकता है.

बैंक खाता धारक नहीं होना चाहिए :-

इस योजना में एक पात्रता मापदंड यह भी हैं कि यदि किसी व्यक्ति का बैंक में पहले से ही कोई खाता हैं, तो वह जन धन खाता नहीं खुलवा सकता है.

जन धन खाता खुलवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज (Required Documents for Jan Dhan Account)

आधार कार्ड :-

यदि आपके पास आधार कार्ड हैं तो आपको किसी भी अन्य दस्तावेजों की आवश्यकता नहीं है. किन्तु यदि आपका पता बदल गया हैं तो आपके लिए यह दस्तावेज काफी नहीं है.

पासपोर्ट आकार की फोटोग्राफ :–

खाता खुलवाने के लिए जन आप बैंक में जाओगे, तो आपको अपने साथ अपनी पासपोर्ट आकार की कम से कम 2 फोटोग्राफ रखनी होगी. क्योंकि इसकी आवश्यकता आपको फॉर्म में लगाने के लिए पड़ सकती हैं.

अन्य दस्तावेज :-

यदि आपके पास आधार कार्ड नहीं हैं तो इसके लिए आपके पास पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड या मनरेगा कार्ड में से कोई भी एक दस्तावेज होना अनिवार्य हैं. यदि ये आपके पते का प्रमाण भी दर्शाते हैं, आप इनका अकेले भी उपयोग कर सकते हैं.

अधिकारिक दस्तावेज नहीं होने पर :-

यदि ऐसा होता है कि लाभार्थी के पास इनमें से कोई भी अधिकारिक वैध दस्तावेज नहीं है. लेकिन उन्हें बैंकों द्वारा कम जोखिम के रूप में वर्गीकृत किया गया है, तो इसके लिए वह निम्न दस्तावेज का उपयोग कर सकते हैं –

केंद्र या राज्य सरकार के विभागों, स्टेटूटरी / रेगुलेटरी अथॉरिटीज, पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग, शेड्यूल्ड कमर्शियल बैंक्स और पब्लिक फाइनेंसियल इंस्टिट्यूशन आदि द्वारा जारी किया गया आवेदक की फोटोग्राफ के साथ पहचान पत्र.

व्यक्ति की विधिवत रूप से सत्यापित की हुई फोटोग्राफ के साथ एक गजट अधिकारी द्वारा जारी किया गया पत्र आदि.

Next Story