Important News

सोने और चांदी की रेट ओं में आई भारी गिरावट, खरीदारी से पहले जान लेने रेट

Govt mobile
11 Aug 2022 4:35 PM GMT
सोने और चांदी की रेट ओं में आई भारी गिरावट, खरीदारी से पहले जान लेने रेट
x
There was a huge fall in the rates of gold and silver, the rate to know before buying

Gold Rate : सोना खरीदने की सोच रहे हैं तो आपके लिए रक्षाबंधन का खास त्योहार एक बड़ी खुशखबरी लेकर आया है। दुनिया भर के बाजारों में आ रही गिरावट के बीच भारत में भी सोने की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई है।

जेवराती सोना भी लुढ़का

जेवराती सोना यानि 22 कैरेट गोल्ड की कीमत में भी आज नरमी देखी गई है। सराफा बाजार के व्यापारियों के अनुसार आज 10 ग्राम 22 कैरेट सोने की कीमत 47350 रुपये दर्ज की गई है। बता दें कि 1 जुलाई को सोने के भाव 47850 रुपये थे, जिसके बाद से अब तक कीमतों में 500 रुपये तक की गिरावट दर्ज की गई है। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक जिंस) तपन पटेल ने कहा, ''अमेरिका में मुद्रास्फीति नीचे आने तथा मंदी की चिंताओं के नरम पड़ने सोने में हानि दर्ज हुई।''

चांदी में भी गिरावट

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के अनुसार चांदी की कीमत में भी गिरावट दर्ज की जा रही है। चांदी की कीमत भी 455 रुपये के नुकसान से 59,103 रुपये प्रति किलोग्राम रह गई। बता दें कि पिछले कारोबारी सत्र में पीली धातु का भाव 53,056 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना नुकसान के साथ 1,787 डॉलर प्रति औंस पर था। चांदी 20.45 डॉलर प्रति औंस पर लगभग स्थिर थी।

गोल्ड ETF से निवेशकों ने की बिकवाली

गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड ईटीएफ) से निवेशकों ने जुलाई, 2022 के दौरान 457 करोड़ रुपये की निकासी की। निवेशकों ने अपना पैसा अन्य परिसंपत्ति वर्गों में लगाया जिसके कारण यह निकासी हुई है। एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया एम्फी) के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है।

आंकड़ों के अनुसार, जून, 2022 में ईटीएफ में 135 करोड़ रुपये का शुद्ध निवेश आया था। मॉर्निंगस्टार इंडिया में वरिष्ठ विश्लेषक कविता कृष्णन ने कहा कि बढ़ती ब्याज दरों के कारण पीली धातु की कीमतों में गिरावट के कारण गोल्ड ईटीएफ से निवेशकों ने निकासी की है। उन्होंने कहा कि रुपये में गिरावट ने भी सोने की मांग और आपूर्ति को प्रभावित किया है।

यह प्रवृत्ति वैश्विक स्तर पर भी देखी गई है, जिसमें सोने की कम कीमतों के कारण गोल्ड ईटीएफ में निवेशकों ने निकासी की है। इस निकासी के साथ गोल्ड ईटीएफ में प्रबंधन के तहत परिसंपत्तियां घटकर 20,038 करोड़ रुपये रह गई हैं, जो जून में 20,249 करोड़ रुपये थीं।

Next Story