Important News

SBI Alert: इस वायरल SBI YONO एसएमएस पर क्लिक करते ही हो रहे अकाउंट खाली, बैंक ने जारी किए हेल्प लाइन नंबर

Govtvacancy Desk
8 April 2022 7:54 AM GMT
SBI Alert: इस वायरल SBI YONO एसएमएस पर क्लिक करते ही हो रहे अकाउंट खाली, बैंक ने जारी किए हेल्प लाइन नंबर
x

टेक्नोलॉजी में जैसे-जैसे इजाफा हो रहा है तो लोगों को काफी सहूलियत मिल रही है। मगर इसी टेक्नोलॉजी का फायदा उठाकर साइबर क्रिमिनल लोगों की मेहनत की कमाई पर सेंध लगाने का प्रयास करते रहते हैं। जी हां, हाल ही में एक SBI YONO एसएमएस फिशिंग स्कैम चल रहा है जो कि बीते कई सालों में काफी आम हो गया है।


बीते साल कई ऐसे मामले सामने आए हैं, जहां यूजर्स के बैंका का पैसा चोरी किया गया है। जी हां जैसे यूजर्स ने अपने बैंक अकाउंट्स की जानकारी शेयर की तो वैसे ही पैसा गायब। हाल ही में इस प्रकार की घटना स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के ग्राहकों के साथ हो रही हैं।


जी हां, SBI यूजर्स को PAN नंबर को लिंक के साथ अपडेट करने के लिए एक मैसेज प्राप्त हो रहा है जो कि SBI वेबपेज के तौर पर नजर आता है, लेकिन वह एक स्कैम होता है। अगर आप एक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के ग्राहक हैं तो आपको यह खबर जरूर पढ़नी चाहिए।

SBI ग्राहक निशाने पर

इस स्कैम में खासतौर पर एसबीआई ग्राहकों को निशाना पर एक मैसेज दिया जा रहा है, जिसमें बताया जा रहा है कि अगर वे इस लिंक पर अपना पैन नंबर अपडेट नहीं करते हैं तो उनका Yono अकाउंट बैन कर दिया जाएगा। Yono एसबीआई का डिजिटल बैंकिंग प्लेटफॉर्म है। मैसेज में लिंक एक SBI पेज के तौर पर दिखता गहै जो कि यूजर्स की निजी जानकारी को दर्ज करने के लिए कहता है। अगर यूजर्स अपना क्रेडेंशियल्स दर्ज करते हैं तो यह डायरेक्ट हैकर्स के पास पहुंच जाता है फिर चालू होता है पैसों की चोरी का धंधा।

कभी न करें ये काम

आपको बता दें कि यह नया फिशिंग अटैक है। फिशिंग अटैक एक बैंक अकाउंट से संबंधित है तो हम आपको बता रहे हैं कि किसी भी स्थिति में आपको किसी भी अंजान लिंक पर क्लिक नहीं करना है, अगर आप लिंक पर क्लिक करते हैं और कोई निजी जानकारी दर्ज करते हैं तो आपका पैसा चोरी हो सकता है।

एसबीआई की ग्राहकों को सलाह

एसबीआई ग्राहकों तक आने वाले इस मैसेज को SBI ने दिखाया है। बैंक ने बताया कि उसकी आईटी सिक्योरिटी टीम इस पर कार्रवाई करेगी। बैंक ने ग्राहकों को सलाह दी है कि वे किसी भी प्रकार के ईमेल, एसएमएस, कॉल, एम्बेडेड लिंक का कोई जवाब न दें। जब उनसे उनकी निजी जानकारी या बैंक की जानकारी साझा करने के लिए कहा जाए तो उसे बिलकुल भी साझा न करें।


बैंक आमतौर पर कभी भी कोई ओटीपी मैसेज नहीं मांगते हैं और न ही निजी जानकारी की मांग करते हैं। अगर आपके पास कभी भी इस प्रकार की कॉल या मैसेज आए और आपसे इस प्रकार की जानकारी की मांग की जाए तो तुरंत उसकी शिकायत दर्ज करवाएं। इसकी शिकायत [email protected] पर करवा सकते हैं और उसके अलावा 1930 हेल्पलाइन नंबर पर भी संपर्क कर सकते हैं।

Next Story