Important News

दिल्ली की केजरीवाल सरकार के इस फैसले के कारण हरियाणा रोड़वेज की बढ़ी मुश्किलें, देखें क्या है फैसला

Govtvacancy Desk
26 Aug 2022 5:00 PM GMT
दिल्ली की केजरीवाल सरकार के इस फैसले के कारण हरियाणा रोड़वेज की बढ़ी मुश्किलें, देखें क्या है फैसला
x
दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने उठाया बड़ा कदम, हरियाणा रोड़वेज की बढ़ी मुश्किलें

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार के एक फैसले से हरियाणा सरकार की मुश्किलें और बढ़ने वाली हैं. दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में हरियाणा रोडवेज की पुरानी बसों की एंट्री रोकने का फैसला किया है.

बढ़ते प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए दिल्ली सरकार ने हरियाणा परिवहन विभाग को पत्र लिखकर पुरानी रोडवेज बसों (बीएस-4 मानकों वाली) को दिल्ली नहीं भेजने को कहा है. केजरीवाल सरकार के इस कदम से माना जा रहा है कि दिल्ली और परिवहन विभाग जाने वाले यात्रियों की मुश्किलें और बढ़ेंगी.

हरियाणा रोडवेज

दिल्ली सरकार के इस कदम से सोनीपत डिपो और गोहाना सब-डिपो को सबसे बड़ी समस्या का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि यहां सभी बसें पुरानी गुणवत्ता की हैं। उधर रोडवेज के महाप्रबंधक राहुल जैन से बात की तो उन्होंने कहा कि मुख्यालय से 25 नई बसें (बीएस-6 मानक वाली) मांगी गई हैं. डिपो में पहुंचते ही ये बसें पुरानी बसों की जगह दिल्ली रूट पर चलाई जाएंगी।

दिल्ली के लिए रोजाना 30 से ज्यादा बसें चलती हैं।

सोनीपत डिपो और गोहाना सब डिपो की बात करें तो दोनों जगहों से रोजाना 30 से ज्यादा बसें दिल्ली के लिए चलती हैं। इसके साथ ही आगरा, गुरुग्राम, जयपुर, मथुरा के लिए भी दिल्ली से बसें चलती हैं। अगर केजरीवाल सरकार दिल्ली में पुरानी बसों के प्रवेश पर रोक लगाती है तो यहां से दिल्ली जाने वाले हजारों यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा.

दिल्ली में प्रदूषण एक गंभीर समस्या

आपको बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्रदूषण की समस्या गंभीर रूप लेती जा रही है और दिवाली के नजदीक आते ही प्रदूषण का स्तर खतरनाक स्तर पर पहुंच जाता है. ऐसे में दिल्ली सरकार ने समय पर प्रदूषण नियंत्रण के उपायों पर काम शुरू कर दिया है. इसी कड़ी के तहत दिल्ली में हरियाणा समेत अन्य राज्यों से पुरानी बसों के प्रवेश पर रोक लगाने का कदम उठाया गया है.

Next Story