Important News

एक अप्रेल से समर्थन मूल्य पर सरसों और चना की खरीद होगी शुरू, ये है जरूरी कागज व दिशा निर्देश

Govtvacancy Desk
24 March 2022 3:12 PM GMT
एक अप्रेल से समर्थन मूल्य पर सरसों और चना की खरीद होगी शुरू, ये है जरूरी कागज व दिशा निर्देश
x
Mustard and gram will be purchased on support price from April 1

समर्थन मूल्य पर सरसों और चना की खरीद एक अप्रेल से होगी। बम्पर उत्पादन के कारण इस बार जिले में एमएसपी पर खरीद का किसानों का लाभ मिल पाना दूर की कौडी नजर आ रहा है। राजफैड के जरिए होने वाली खरीद के लिए सीकर जिले में क्रय विक्रय सहकारी समितियों सहित दो दर्जन से ज्यादा खरीद केन्द्र बनाए जाएंगे।

समर्थन मूल्य पर होने वाली खरीद के लिए केन्द्र से परिवहन, बारदाना और रखरखाव के लिए जरूरी अन्य सामग्री के टेंडर कर दिए गए हैं। निर्देश मिलने के साथ ही खरीद केन्द्र शुरू कर दिए जाएंगे। इसके लिए 25 मार्च से किसानों ने पंजीयन शुरू किए जाएंगे। गौरतलब है कि खरीद केन्द्रों पर चना की खरीद होने की आशंका है।

ये देने होंगे दस्तावेज

क्रय विक्रय सीकर मुख्य कार्यकारी अधिकारी महेन्द्र पाल सिंह के अनुसार समर्थन मूल्य पर खरीद प्रक्रिया सहकारिता विभाग की शीर्ष संस्था राजफेड के जरिए की जाएगी। खरीद के लिए चना का समर्थन मूल्य 5230 रुपए, चना का 5050 रुपए तय किया गया है।

पंजीयन करवाते समय गिरदावरी तथा किसान का भामाशाह या जनआधार कार्ड ,आधार कार्ड , एवं बैंक पासबुक की प्रतिलिपि के जरिए ऑनलाइन पंजीयन किया जा सकेगा। इसके बाद टोकन नम्बर जारी होगा। उपज बेचते समय खरीद केन्द्र पर किसान को ये दस्तावेज जमा कराने होंगे। इस दौरान किसान खुद का नाम, बैंक खाता क्रमांक, आइएफसी कोड लिखेगा।

सोलर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए जिले में नए सोलर प्लांट लगाए जाएंगे। सौर ऊर्जा आधारित पम्प सेट लगाने के लिए किसानों के बढ़ते रुझान को देखते हुए इस बार लक्ष्य भी बढ़ाए गए हैं। सितम्बर 2020 तक सोर ऊर्जा पम्प के लिए आवेदन कर चुके किसान पम्प लगाने के लिए उद्यान विभाग में दस अप्रेल तक फाइल जमा करवा सकेंगे।

उद्यान विभाग के एडी बनवारीलाल चौधरी ने बताया कि कुसुम परियोजना के तहत 1060 नए सौर पम्प सेट लगाने के लिए लक्ष्य मिला हैं। योजना के बी कम्पोंनेंट फेज दो के तहत सामान्य श्रेणी के 775, अनुसूचित जाति के 245 और अनुसूचित जनजाति के लिए 40 सौर ऊर्जा पम्पसेट लगाने का लक्ष्य मिला है। जिले में 2019- 20 के कम्पोनेंट बी के तहत 657 और 2020-21 में 378 पम्पसेट लगाए जा चुके हैं।

Tagsmsp 
Next Story