Important News

आइये जानते है क्रोमबुक कैसे अलग है लेपटोप से

GovtvacancyJobs
19 April 2022 1:39 AM GMT
आइये जानते है क्रोमबुक कैसे अलग है लेपटोप से
x


कभी आपने सोचा है कि Chromebook और लैपटॉप (Laptop) में अंतर क्या होता है? आजकल क्रोमबुक का भी चलन बहुत है और खासकर ये स्कूली बच्चों के लिए बहुत पसंद किया जाता है। तो आइये जानते है क्रोमबुक और लैपटॉप के बीच क्या अंतर है उसके बारे में डिटेल्स में।

क्रोमबुक (Chromebook) क्या है?

आप शायद पहले से ही जानते हैं कि लैपटॉप क्या है। अंतर जानने से पहले हमें यह समझना चाहिए कि क्रोमबुक क्या है और यह पारंपरिक लैपटॉप से ​​कैसे अलग है। तो, चलिए वहीं से शुरू करते हैं।

क्रोमबुक एक लैपटॉप है जो Google के क्रोम ओएस पर चलता है, एक हल्का ऑपरेटिंग सिस्टम जो मुख्य रूप से क्रोम ब्राउज़र पर अपने मैन यूजर इंटरफेस के रूप में निर्भर करता है। इसका मतलब है कि आप क्रोम ब्राउज़र से जो कुछ भी कर सकते हैं, वह आप क्रोमबुक पर कर सकते हैं।

इसका मतलब यह नहीं है कि आप केवल इंटरनेट कनेक्शन होने पर ही Chromebook का उपयोग कर सकते हैं। Google ने क्रोम ओएस को क्रोम वेब स्टोर या Google Play Store से ऐप्स चलाने में इनेबल होने के लिए डिज़ाइन किया है, जिसमें वर्ड प्रोसेसर और स्प्रैडशीट से लेकर इंस्टेंट फोटो एडिटिंग और लाइट गेमिंग तक सभी मूलभूत चीजें शामिल हैं। और, इनमें से कई ऐप्स तब भी काम करते हैं, जब कोई Chromebook इंटरनेट से कनेक्ट नहीं होता है।

क्रोमबुक और लैपटॉप में क्या अंतर है - Difference Between Chromebook and Laptop

आपको बता दें कि Chromebook भी टेक्निकली एक लैपटॉप ही है, बस इसमें एक अलग ऑपरेटिंग सिस्टम होता है। दोनों एक कीबोर्ड, एक कैमरा, एक स्क्रीन और एक ट्रैकपैड के साथ नोटबुक हैं। और, लैपटॉप की तरह, कई क्रोमबुक क्लैमशेल होते हैं, जबकि कुछ अन्य टचस्क्रीन डिस्प्ले और 2-इन -1 फॉर्म फैक्टर के साथ आते हैं।

इंटरनल रूप से, देखा जाए तो लैपटॉप थोड़ा ज्यादा मजबूत होता है क्योंकि इसमें ज्यादा पावरफुल माइक्रोप्रोसेसर होते हैं - जैसे इंटेल या एएमडी।

दूसरी ओर, क्रोमबुक (Chromebook) में आमतौर पर कम परफॉर्मेंस देने वाले चिप्स और ग्राफिक्स होते हैं। क्रोम ओएस इतना हल्का है कि इसे चलाने के लिए किसी पॉवरफुल चिप की आवश्यकता नहीं है, और इससे क्रोमबुक की कीमत भी कम होती है।

वहीं, लैपटॉप ज्यादा पावरफुल ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज 10, MacOS और लिनक्स पर चलते हैं, जो एक ओपन सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम है। इन विंडोज लैपटॉप और मैकबुक को आमतौर पर हाई पावर वाले ग्राफिक्स कार्ड और प्रोसेसर के साथ-साथ तेज मेमोरी की आवश्यकता होती है, इस कारण इनकी कीमत भी ज्यादा होती है।

विंडोज लैपटॉप में आमतौर पर 128GB से लेकर बहुत अधिक लोकल स्टोरेज होती है और ऐप्स और फाइलें भी ज्यादा स्पेस लेती है। वहीं, क्रोमबुक में आमतौर पर लगभग 16GB स्टोरेज होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि Chrome OS और इसके द्वारा चलाए जाने वाले ऐप्स को Windows जितने स्टोरेज की आवश्यकता नहीं होती है और ये आपके डॉक्यूमेंट को क्लाउड पर सेव करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं।


Next Story