Important News

अपनी खूबसूरती से जानी जाती है आई पी एस सिमाला प्रसाद ,मिलिए उनके इस अंदाज से

GovtvacancyJobs
16 April 2022 8:29 AM GMT
अपनी खूबसूरती से जानी जाती है आई पी एस सिमाला प्रसाद ,मिलिए उनके इस अंदाज से
x

सिमला एक ऐसी पुलिस अफसर हैं जिन्होंने अधिकारी के तौर पर नक्सल प्रभावित क्षेत्र में खूब काम किया है,जमकर एक्टिंग में भी अपनी पहचान बनाई हैं.कहते हैं ना मेहनत करने का जज्बा हो तो कुछ भी हासिल किया जा सकता है.इनके साथ भी बिल्कुल ऐसा ही है.


सिमला प्रसाद का जन्म 8 अक्टूबर 1980 को भोपाल में हुआ था और उन्होंने भोपाल से ही अपनी पढ़ाई पूरी की. प्रारंभिक शिक्षा सेंट जोसेफ कोएड स्कूल में हुई.इसके बाद उन्होंने स्टूडेंट फॉर एक्सीलेंस से बीकॉम और बीयू से पीजी करके पीएससी की परीक्षा पास की.भोपाल के बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय से समाजशास्त्र में पीजी करने वाली सिमला प्रसाद गोल्ड मेडलिस्ट भी रह चुकी हैं.

पीएससी की परीक्षा पास करने के बाद पहली पोस्टिंग डीएसपी के तौर पर हुई थी.इस नौकरी के दौरान,उन्होंने यूपीएससी परीक्षा की तैयारी की और पहले प्रयास में ही सफलता प्राप्त कर ली.सिमला ने आईपीएस बनने के लिए किसी कोचिंग संस्थान का सहारा नहीं लिया, लेकिन सेल्फ स्टडी के जरिए यूपीएससी क्लियर करने में सफल रही.


IPS Simala Prasad

उन्होंने कहा कि- उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि वह सिविल सर्विस में जाना चाहती हैं,लेकिन उनके घर के माहौल ने उनमें आईपीएस बनने की इच्छा जगा दी.निर्देशक जैघम इमाम ने दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान उनसे मुलाकात की और सिमला की सादगी और सुंदरता को देखकर उनसे मिलने का समय मांगा.


इमाम ने तब सिमला को अपनी फिल्म 'अलिफ' की स्क्रिप्ट सुनाई और उन्हें फिल्म में ऑफर दिया.अलिफ' सिमला की पहली फिल्म थी और यह फरवरी 2017 में रिलीज हुई थी.सिमला ने 2019 में रिलीज हुई फिल्म 'नक्कश' में भी काम किया था.IPS सिमला ना सिर्फ अधिकारी के तौर पर बल्कि बतौर एक्ट्रेस भी काम कर चुकी हैं, और अपनी एक्टिंग से लोगों का दिल जीत रही हैं.


IPS Simala Prasad के नाम से खौफ खाते हैं अपराधी, बॉलीवुड की इन फिल्मों में कर चुकी हैं काम

सिमाला एक परिवार से आती हैं.उनके पिता डॉ भागीरथी भी पूर्व आईपीएस अधिकारी औऱ सांसद रह चुके हैं.मां मेहरुन्निसा एक साहित्कार हैं.उन्होंने यूपीएससी की जब तैयार की उस दौरान उनकी नौकरी लग चुकी थी. उन्होंने अपने दोनों कर्तव्य को बखूबी निभाया.वह पढ़ाई भी करती और साथ-साथ नौकरी भी.

इसके बाद वह एक आईपीएस अधिकारी के रूप में चयनित हुई और आज एक नक्सल एरिया में अपनी सेवाएं दे रही हैं.उन्हें बचपन से ही एक्टिंग का काफी शौक था.वह छोटी थी तब से एक्टिंग करते आ रही हैं.वह स्कूल के दिनों में अपने क्लास में भी एक्टिंग किया करती थीं.जिसका फायदा उन्हें बड़े होकर मिला.उनका कहना है कि मेहनत और लगन हो तो कुछ भी हासिल करना संभव है.

Next Story