Important News

भारतीय रेलवे ने यात्रियों को दी बड़ी सौगात,अब वापिस मिलेगी ये सुविधाए

GovtvacancyJobs
2 April 2022 9:48 AM GMT
भारतीय रेलवे ने यात्रियों को दी बड़ी सौगात,अब वापिस मिलेगी ये सुविधाए
x
Indian Railways has given a big gift to the passengers, now these facilities will be returned

रेलवे बोर्ड ने कहा है कि इन चीजों की सप्लाई तुरंत ही शुरू कर दी जाएगी, इससे पहले कई सुविधाएं दोबारा शुरू की जा चुकी हैं...


होली के त्योहार से पहले ही रेल यात्रियों के लिए भारतीय रेलवे की तरफ से बड़ी राहत की घोषणा की गई है। रेलवे ने एक आदेश जारी करते हुए कहा है कि ट्रेन में बेडशीट, कंबल और पर्दे की सुविधा को फिर से शुरू किया जा रहा है।

इसे कोरोना काल में संक्रमण को फैलने से रोकने के मकसद से बंद किया गया था। बता दे की सभी रेलवे जोन के जनरल मैनेजर्स को यह आदेश जारी किया जा चुका है। रेलवे बोर्ड ने कहा है कि इन चीजों की सप्लाई तुरंत ही शुरू कर दी जाएगी। इससे पहले खाने समेत कई सुविधाएं दोबारा शुरू की जा चुकी हैं।


लोग इसकी काफी मांग कर रहे थे


कंबल और बेडशीट ना मिलने के चलते लोग इसकी काफी मांग कर रहे थे।

ये सुविधाएं ना मिलने की वजह से लोगों को काफी दिक्कत हो रही थी।

बहुत लोग ट्रेन में ये सब सुविधाएं ना मिलने की वजह से प्लेन से यात्रा करने को तवज्जो देने लगे थे।

वहीं ट्रेन और प्लेन के एसी के किराए में अब ज्यादा फर्क नहीं रहा।

वहीं ट्रेन की तुलना में प्लेन से समय की बहुत अधिक बचत होती है।

क्या-क्या सुविधाएं मिलेगी ?


रेलवे ने सबसे पहले स्पेशल ट्रेनों के नाम पर महत्वपूर्ण ट्रेनों की सुविधा बहाल की।

उसके बाद इन ट्रेनों में पेंट्री कार की सुविधा शुरू की।

ताकि लोगों को ट्रेन में बना हुआ खाना आसानी से मुहैया कराया जा सके।

यानी चाय-कॉफी से लेकर तमाम तरह के खाने अब रेलगाड़ी में ही बना कर बेचे जा रहे हैं।

इससे पहले लोगों को खाने की सुविधा देने के लिए सिर्फ रेडी टू इट खाना ही मिलता था।

अब कंबल और बेडशीट की सुविधा भी मिलने लगी है।

पहले क्या मिलता था ट्रेन के एसी क्लास में?

अगर कोरोना काल से पहले की बात करें, तो ट्रेन के एसी क्लास में यात्रा करने पर बेड रोल मुफ्त में मिलता था। गरीब रथ ट्रेन में इसके लिए मामूली चार्ज देना होता था। एक बेड रोल में दो चादर, एक तकिया, एक कंबल और एक छोटा तौलिया होता था। कोरोना काल में जब ट्रेन की सुविधा फिर से शुरू की गई तो बेड रोल देना बंद कर दिया गया। उस समय रेलवे का कहना था कि बेड रोल से कोरोना का संक्रमण फैल सकता है।

Next Story