Important News

रोचक जानकारी, क्या आपको ट्रेन डिब्बों पर लिखे नंबर का मंतबल पता है, इसमें छिपी है यात्रियों के लिए बहुत महत्वपूर्ण जानकारी

Govtvacancy Desk
14 Jun 2022 6:21 AM GMT
रोचक जानकारी, क्या आपको ट्रेन डिब्बों पर लिखे नंबर का मंतबल पता है, इसमें छिपी है यात्रियों के लिए बहुत महत्वपूर्ण जानकारी
x
Indian Railways: ट्रेन के डिब्बे पर लिखा 5 डिजिट का ये कोड है बेहद खास, देता है कई बड़ी जानकारियां

हर रोज लाखों लोग ट्रेन से रोजाना यात्रा करते हैं। आपने भी बहुत बार ट्रेन से यात्रा की होगी लेकिन क्या आपने कभी ट्रेन के डिब्बो पर लिखे नंबरों की तरफ गोर किया है। अगर हां तो क्या आपकों पता है कि ट्रेन के डिब्बे पर लिखे पांच डिजिट के नंबर को भी देखा होगा।

क्या आप जानते हैं कि डिब्बो पर लिखा नंबर बेहद खास होता है। इस नंबर के पीछे निजी जानकारियां छिपी हैं। आइए जानें क्या है इस नंबर पांच के पीछे का राज...

प्रत्येक ट्रेन डिब्बे के बाहर लिखे ये पांच नंबर (Coac Train Number) इस बात की जानकारी देते हैं कि यह ट्रेन की बोगी कब और किस प्रकार का बनाया गया था।

5 अंकों में से पहले दो अंक इस बोगी के निर्माण की तारीख को दर्शाते हैं, और अंतिम तीन अंक इस बोगी के वर्ग को दर्शाते हैं।

पहले दो अंकों का अर्थ

उदाहरण से समझें - मान लीजिए ट्रेन की गाड़ी पर 13328 नंबर लिखा होता है। इसे डिकोड करने के लिए आप सबसे पहले इसे दो भागों में बांट कर पढ़ें।

पहले दो अंक हमें बताते हैं कि यह कब बना था। जैसा कि इस मामले में यह बोगी 2013 में बनाया गया था। अगर उसी बोगी पर 98397 लिखा हुआ था, तो यह बोगी 1998 में बनाया जाना था।

अंतिम तीन संख्याओं का अर्थ

5 अंकों के अंतिम 3 अंक उस संरचना के वर्ग को दर्शाते हैं। जैसा कि पहले मामले (13328) में है, यह कार सामान्य श्रेणी की है और दूसरे मामले (98397) में गाड़ी स्लीपर श्रेणी की है। अगर आप इसे विस्तार से समझना चाहते हैं, तो इस ग्राफ को देखें।

001-025: प्रथम श्रेणी एसी

026-050: कंपाउंड 1AC + AC-2T

051-100: एसी-2टी

101-150: एसी-3टी

151-200: सीसी (एसी चेयर कार)

201-400: एसएल (द्वितीय श्रेणी स्लीपर)

401-600: जीएस (सामान्य कक्षा दो)

601-700: 2एस (द्वितीय श्रेणी बैठने की कक्षा/जन स्तब्ध कुर्सी वर्ग)

701-800: सीटेड रेक कम बैगेज

801+: स्टोरेज कार्ट, जनरेटर या मेल

अब तक आप समझ गए होंगे कि बॉक्स पर लिखा 5 अंकों का नंबर 2 महत्वपूर्ण जानकारी देता है। अब जब आप ट्रेन से यात्रा कर रहे हों तो अपने वाहन के बाहर लिखे नंबर को देखकर आसानी से बता सकते हैं कि यह बोगी कब और किस श्रेणी में बना था।

Next Story