Important News

खुशखबरीः किसानों को कोल्ड स्टोरेज वैन पर सरकार दे रही 19.50 लाख की सब्सिडी, फटाफट भरें इस योजना के लिए फार्म

Govtvacancy Desk
22 Sep 2022 10:31 AM GMT
खुशखबरीः किसानों को कोल्ड स्टोरेज वैन पर सरकार दे रही 19.50 लाख की सब्सिडी, फटाफट भरें इस योजना के लिए फार्म
x
अब टेंशन फ्री हेकर मंडी पहुंचायें फसल, यहां कॉल्ड स्टोरेज वैन पर 19.50 लाख की सब्सिडी का ऑफर

कोल्ड स्टोरेज वैन पर सब्सिडी (Subsidy On Cold Storage Van): खेती केवल फसलों की बुवाई या कटाई तक ही सीमित नहीं है, बल्कि असली जिम्मेदारी फसल को कटाई के बाद बाजार तक पहुंचाना है। किसानों को फसल कटाई से लेकर फसल विपणन तक कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इस बीच, कोल्ड स्टोरेज और फसलों के परिवहन के लिए वाहनों की बुकिंग में कई समस्याएं हैं।

ऐसे में किसान अब अपना खुद का मोबाइल कोल्ड स्टोरेज खरीद सकते हैं। जी हां, बिहार सरकार किसानों को कोल्ड स्टोरेज वैन या रेफ्रिजरेटेड वैन की खरीद पर 75 फीसदी (रेफ्रिजरेटेड वैन पर सब्सिडी) या अधिकतम 19.50 लाख रुपये तक की सब्सिडी दे रही है. इस योजना का लाभ उठाकर किसान अपना मोबाइल कोल्ड स्टोरेज (कोल्ड स्टोरेज वैन पर सब्सिडी) या रेफ्रिजरेटेड वैन खरीद सकते हैं और बिना किसी चिंता के फसलों को बाजारों तक पहुंचा सकते हैं।

रेफ्रिजेरेटेड वैन पर सब्सिडी

बिहार कृषि विभाग, बागवानी निदेशालय ने एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना के तहत कोल्ड स्टोरेज वैन या रेफ्रिजरेटेड वैन की खरीद के लिए 26 लाख रुपये की इकाई लागत निर्धारित की है. किसान या व्यक्तिगत उद्यमी को राज्य सरकार द्वारा निर्धारित लागत पर 50% यानी अधिकतम 13 लाख रुपये की सब्सिडी दी जाएगी वहीं किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ/एफपीसी) को इकाई लागत पर 75 फीसदी तक की सब्सिडी यानी अधिकतम 19 लाख 50 हजार रुपये अनुदान का प्रावधान होगा.

बैंक से भी मिलेगा कर्ज

बिहार कृषि विभाग की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार किसान, व्यक्तिगत उद्यमी या किसान उत्पादक संगठनों को 5 लाख से अधिक की लागत वाली इकाई लगाने या खरीदने के लिए बैंक से कर्ज लेना होगा.

यहां आवेदन करें

एकीकृत बागवानी विकास मिशन के तहत कोल्ड स्टोरेज वैन या रेफ्रिजरेटेड वैन की खरीद पर सब्सिडी प्राप्त करने के लिए बिहार कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट http://horticulture.bihar.gov.in/ पर जाएं। इस योजना से संबंधित अधिक जानकारी के लिए नजदीकी जिले के सहायक निदेशक भी उद्यान में संपर्क कर आवेदन प्रक्रिया एवं फार्म सहित आवश्यक दस्तावेज जमा कर सकते हैं.

किसान सभा भी ऐप से जुड़ सकती है

आज के समय में आधुनिक तकनीकों की मदद से खेती से लेकर फसल बेचने तक का काम आसान हो गया है। अब किसान अपने मोबाइल फोन पर ई-नाम एप की मदद से अपनी फसल बेच सकते हैं। साथ ही किसान सभा एप की मदद से फसलों को सुरक्षित बाजारों तक पहुंचाया जा सकता है और अगर फसल नहीं बिकती है तो ऐसे में घर बैठे भी कोल्ड स्टोरेज की बुकिंग की जा सकती है.

बिहार कृषि विभाग द्वारा चलाए जा रहे एकीकृत बागवानी विकास मिशन के तहत किसान रेफ्रिजरेटेड वैन पर सब्सिडी का लाभ उठाकर कोल्ड स्टोरेज वैन खरीद सकते हैं और किसान खेती के अलावा अतिरिक्त आय अर्जित कर सकते हैं.आप किसान सभा मोबाइल ऐप पर ट्रांसपोर्टर के रूप में भी जुड़ सकते हैं. इससे अन्य किसानों को उनकी फसलों के साथ-साथ सुविधा भी मिलेगी।

Next Story