Important News

बेरोजगार युवाओं के लिए एक बड़ी खुशखबरी,राज्‍य में कच्‍चे कर्मचारियों की भर्ती पर लगी रोक हटी

GovtvacancyJobs
2 July 2022 3:01 AM GMT
बेरोजगार युवाओं के लिए एक बड़ी खुशखबरी,राज्‍य में कच्‍चे कर्मचारियों की भर्ती पर लगी रोक हटी
x
हरियाणा में कच्चे कर्मचारियों की भर्ती पर रोक हटी, कौशल रोजगार निगम के तहत नए पंजीकरण जल्द

हरियाणा के बेरोजगार युवाओं के लिए एक बड़ी खुशखबरी आई है. राज्‍य में कच्‍चे (अस्‍थायी कर्मचारियों) की भर्ती पर लगी रोक अब हटा दी गई है. ऐसे में अब हरियाणा के सरकारी महकमों, बोर्ड-निगमों और सरकारी संस्थाओं में अब फिर से अनुबंध आधार पर कर्मचारियों की भर्ती की जाएगी. प्रदेश सरकार द्वारा कच्चे कर्मचारियों की भर्ती पर पिछले साल 28 सितंबर से लगी रोक को अब हटा दिया गया है. कच्ची नौकरियों में गरीब परिवारों के युवाओं को ही प्राथमिकता पर रखा जाएगा.

योग्यता और मानदंड तय

जानकारी के अनुसार कौशल रोजगार निगम के जरिये होने वाली अनुबंध आधार की भर्तियों के लिए नियम तय करते हुए मानव संसाधन विकास विभाग ने अधिसूचना जारी कर दी है. कच्चे कर्मचारियों की भर्ती के लिए योग्यता और मानदंड तय भी कर दिए गए हैं. साथ ही अलग-अलग श्रेणीयों के लिए अंकों का निर्धारित भी कर दिया गया हैं.

अब नहीं होगा कर्मचारियों का शोषण

अनुबंध आधार पर लगे कर्मचारियों की शिकायत रहती थी कि ठेकेदार उनका शोषण करते रहते हैं. उनका कहना था कि समय पर वेतन और अन्य लाभों का भुगतान नहीं किया जाता और ईपीएफ (EPF) व ईएसआइ (ESI) की राशि भी जमा नहीं करवाई जाती थी. लेकिन कौशल रोजगार निगम के जरिये होने वाली भर्ती में अब ऐसा नहीं किया जाएगा.

इन परिवारों को मिलेंगे 50 अंक

नौकरी के लिए अंत्योदय परिवार की सूची में शामिल परिवारों, सक्षम युवाओं और जरूरतमंद लोगों जिनके परिवारों की वार्षिक आय एक लाख 80 हजार रुपये से कम है, उन्हें प्रथम स्थान पर रखा जाएगा. 1.80 लाख रुपये तक सालाना कमाई वाले परिवाराें के युवाओं को नौकरी में 40, ढाई लाख तक के लिए 30, चार लाख तक के लिए 20 और छह लाख रुपये तक की सालाना आय वाले परिवारों के लिए 10 अतिरिक्त अंक दिए जाने की योजना है. जिनके पास कौशल प्रमाणपत्र होगा, उन्हें भर्ती में 20 अंक, आर्थिक सामाजिक आधार के पांच और संयुक्त पात्रता परीक्षा के 10 अंक दिए जाएंगे. बता दें कि मुख्यमंत्री (CM) अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के दायरे में आने वाले परिवारों को 50 अंक दिए जाएंगे.

गृह जिले में ही नौकरी की प्राथमिकता

भर्ती के लिए आयु को लेकर भी अनेक मापदंड तय किए गए हैं. इनमें 18 से 24 साल, 24 से 30, 30 से 36, 36 से 42 आयु वर्ग निर्धारित किए गए हैं. 42 साल से अधिक आयु के व्यक्तियों को अब नौकरी नहीं दी जाएगी. युवाओं को उनके गृह जिले में ही नौकरी की प्राथमिकता दी जाएगी.

तनख्वाह के लिए तीन श्रेणियों में बांटे शहर

बता दें कि कच्चे कर्मचारियों के लिए निगम रेट पहले से ही तय किए जा चुके हैं. इसके लिए तीन श्रेणियों में शहरों व जिलों को बांटा दिया गया है. ये हैं-

श्रेणी-। के दायरे में गुरुग्राम, फरीदाबाद, पंचकूला और सोनीपत जिला रखे गए हैं.

श्रेणी-2 के दायरे में पानीपत, झज्जर, पलवल, करनाल, अंबाला, हिसार, रोहतक, रेवाड़ी, कुरुक्षेत्र, कैथल, यमुनानगर, भिवानी और जींद जिला आते हैं.

श्रेणी-3 के दायरे में जिला महेंद्रगढ़, फतेहाबाद, सिरसा, नूंह और चरखी दादरी शामिल हैं. सभी श्रेणियों के लिए अलग-अलग निगम रेट तय किए गए हैं.

Next Story