home page

अब 18 साल से कम वाले भी बनवा सकते है Pan Card, बस इन बातों का रखें ध्यान

 | 
pan Card

परमानेंट अकाउंट नंबर (PAN) की बात करें तो एड्रेस प्रूफ में यह आधार कार्ड की तरह काम करता है, यह 10 डिजिट का अल्फान्यूमेरिक नंबर होता है। टैक्स चुकाने, आईटीआर फाइल करने और टीडीएस क्लेम करने के लिए पहचान पत्र के साथ पैन कार्ड के साथ काम करना जरूरी है।


PAN CARD Update: अब नाबालिग भी बनवा सकेंगे पैन कार्ड! बस इन बातों का ध्यान रखें
पैन कार्ड सभी करदाताओं, व्यवसायों, संगठनों और स्थानीय सरकारों के लिए बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। अगर किसी के पास पैन कार्ड नहीं है तो काम में बाधा आ सकती है। ऐसे में आप पैन कार्ड बनवाकर लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

आईटीआर के लिए पैन कार्ड जरूरी है
मान लीजिए कि कोई नाबालिग 15 हजार रुपए से ज्यादा कमाता है तो वह आईटीआर क्लेम कर सकता है। . पैन कार्ड होने पर ही आप इनकम टैक्स रिटर्न फाइल कर सकते हैं। अगर पैन कार्ड मौजूद नहीं है तो आप आईटीआर क्लेम नहीं कर पाएंगे। नाबालिग ऐसे पैन कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं और लाभ उठा सकते हैं।

अवयस्क का पैन कार्ड निवेश करने, निवेश में नामांकित व्यक्तियों को जोड़ने, बैंक खाते खोलने और अवयस्क की आय अर्जित करने के लिए आवश्यक है। ऐसे में नाबालिग का नाम लेकर उसके माता-पिता या घर का कोई अन्य सदस्य पैन कार्ड के लिए आवेदन कर लाभ प्राप्त कर सकता है।

नाबालिग के नाम से जारी किए गए पैन कार्ड में उसकी तस्वीर और हस्ताक्षर नहीं होते हैं। इसलिए इसे पहचान प्रमाण के तौर पर इस्तेमाल करना बहुत मुश्किल है। जब नाबालिग 18 साल का हो जाता है, तो उसे पैन कार्ड अपडेट के लिए आवेदन करने के बाद इसका लाभ मिलता है।

पैन कार्ड अप्लाई करने के लिए आपको NSDL की वेबसाइट पर जाना होगा। अब फॉर्म 49A को ध्यान से भरना होगा. फिर माता-पिता से प्राप्त फोटो के साथ नाबालिग प्रमाण पत्र और अन्य दस्तावेज जमा करने होंगे। माता-पिता के हस्ताक्षर आवश्यक हैं। अब आपको 107 रुपये भी देने होंगे। इसके बाद आपको एक यूनिक नंबर दिया जाता है जिसकी मदद से आप पैन कार्ड को आसानी से ट्रैक कर सकते हैं