home page

अब माफ करने जा रही सरकार, 80 लाख किसानों पर बोझ बना कर्ज, लिस्ट में चेक करें अपना नाम

 | 
h

UP Kisan Karj Rahat Yojana : फसल खराब होने के कारण अक्सर किसान अपना कर्ज नहीं चुका पाते हैं और ब्याज चुकाने वाले कर्ज के बोझ तले दब जाते हैं। कई किसान अपनी जमीनें गिरवी रख देते हैं, जिससे कृषि भूमि भी कुर्क हो जाती है। किसानों को ऐसी समस्याओं से बचाने के लिए देश में कई तरह की योजनाएं चलाई जा रही हैं। यूपी सरकार भी इसी तरह की कर्जमाफी योजना पर काम कर रही है, जिसके तहत किसानों द्वारा 25 मार्च, 2016 से पहले लिए गए पुराने कर्ज माफ करने की योजना है. अगर किसान आर्थिक तंगी के चलते यह पैसा जमा नहीं करा पाए हैं तो वे राहत की सांस ले सकते हैं, क्योंकि कर्जमाफी योजना के तहत हर साल जारी होने वाले किसानों की सूची जल्द ही सामने आ सकती है.

80 लाख से अधिक किसानों को लाभ मिलेगा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यूपी सरकार की कर्जमाफी योजना के तहत 2023 तक किसानों की सूची जारी हो सकती है, जिसमें 80 लाख किसानों के नाम आने की संभावना है. हालांकि, इस योजना का लाभ केवल उन्हीं किसानों को मिलेगा जो योजना की शर्तों का पालन करेंगे। दरअसल, हर साल कभी बारिश तो कभी सूखे से फसल बर्बाद हो जाती है।

ऐसा ही नजारा इस साल खरीफ सीजन में भी देखने को मिला। इस बीच, वे किसान जो खेती से उत्पादन नहीं कर सके या जिनकी फसल प्रतिकूल मौसम की वजह से नष्ट हो गई, वे कर्जमाफी की इस सूची में शामिल हैं। इन किसानों की सूची जिलाधिकारी ने बनाई है, जिसे शासन को भेज दिया गया है। अब कर्जमाफी योजना 2023 के लाभार्थी किसानों की सूची जल्द जारी होने का इंतजार है।

 

         govt vacancy                             

    अभी भी सरकार की आयुष्‍मान योजना से अंबाला में कई लाभार्थी वंचित, जानें क्‍या है लाभ

 

इन बातों पर विशेष ध्यान दें
उत्तर प्रदेश किसान कर्ज राहत योजना का लाभ लेने के लिए किसान को यूपी का मूल निवासी होना जरूरी है।

इसका लाभ 5 हेक्टेयर तक भूमि वाले सीमांत किसानों को ही मिलेगा।
किसान की आय खेती से ही हो।
किसान आर्थिक तंगी के कारण 1 लाख तक का कर्ज नहीं चुका पा रहे हैं।
किसान का कर्ज वर्ष 2016 से पहले का होगा, तब कर्जमाफी का लाभ लिया जा सकता है।
अपना नाम यहां चेक करें

उत्तर प्रदेश सरकार की किसान ऋण राहत योजना के तहत अब तक प्रदेश के 86 लाख किसान कर्ज मुक्त हो चुके हैं। इस सूची में अपना नाम देखने के लिए आप www.upkisankarjrahat.upsdc.gov.in पर जा सकते हैं। सरकार ने हेल्पलाइन नंबर- 0522-2235892 और 0522-2235855 भी जारी किए हैं, जहां कोई भी अधिक जानकारी के लिए कॉल कर सकता है।